मोदी-शाह ने मुख़्यमंत्रियो के साथ मिलकर जीत की रणनीति बनायीं

modi-shah_in-cm-meeting

वर्ष 2019 में लोकसभा के चुनाव होने वाले है, इसके लिए 1 वर्ष से भी कम का समय रह गया है. अमित शाह ने मोदी को फिर से प्रधानमंत्री बनाने के लिए कमर कस ली है. अमित शाह भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष होने के साथ साथ, मोदी के दाहिने हाथ भी माने जाते है.

अमित शाह कि अध्यक्षता में भाजपा शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियों की बैठक हुयी, इस बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी शामिल हुए. इस बैठक में इस वर्ष होने वाले 3 राज्यों के विधानसभा चुनाव और आगामी लोकसभा चुनाव के लिए जीत कि रणनीति बनाने के लिए हुयी थी. सभी ने मिलकर संकल्प लिया कि आगामी लोकसभा चुनाव में पहले से भी बड़ी जीत हासिल करेंगे.
बैठक कि शुरुवात पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को श्रद्घांजलि दे कर कि गयी. छत्तीसगढ़ के सीएम रमन सिंह ने इस बात कि जानकारी दी.

पीएम मोदी और शाह ने सभी मुख्यमंत्रियों को निर्देश दिया कि वो अपने अपने राज्यों में आयुष्मान भारत, उज्जवला, सौभाग्य, शहरी एवं ग्रामीण आवास योजनाओं को युद्घ स्तर पर लागू करे। साथ ही दोनों ने सभी मुख्यमंत्रियों से ओबीसी आयोग को संवैधानिक दर्जा और एससी-एसटी एक्ट को पुराने स्वरूप में लागू करने में मिली सफलता को ऐतिहासिक उपलब्धि बताते हुए इसका व्यापक प्रचार-प्रसार करने का भी निर्देश दिया है।

मोदी सरकार ने गरीबो के उत्थान के लिए काफी सारी योजनाए बनायीं है. बैठक में खासतौर पर गरीब केंद्रित महत्वाकांक्षी योजनाओं जैसे कि स्वास्थ्य बीमा योजना, सौभाग्य, फसल बीमा, आयुष्मान भारत, उज्जवला, शहरी एवं ग्रामीण आवास योजनाओं कि क्रियान्वयन की स्थिति पर चर्चा हुई।

Leave a comment

Your email address will not be published.


*


Social media & sharing icons powered by UltimatelySocial